दबाव में बिखरी इंग्लैंड टीम ,भारत ने कसा शिकंजा

भारत और इंग्लैंड के बीच मोहाली में खेले जा रहे पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड ने चार विकेट के नुकसान 78 रन बना लिए थे। इंग्लैंड अभी पहली पारी के आधार पर 56 रन पीछे है। दिन का खेल खत्म होने तक जो रूट 36 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे और गेराथ बैटी ने अभी अपना खाता नहीं खोला था। भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन ने तीन और रविंद्र जाडेजा ने एक विकेट लिया।

पहले भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों ने इंग्लैंड को बैकफुट पर धकेला और उसके बाद गेंदबाजों ने अपना कमाल दिखाया। भारतीय टीम इंग्लैंड के 287 रनों के जवाब में 204 रनों पर छह विकेट खो चुकी थी। लग रहा था कि पहली पारी का स्कोर लगभग बराबर रहेगा लेकिन इसके बाद रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जाडेजा और जयंत यादव ने भारतीय पारी को बड़ी बढ़त दिलाई। भारत ने अपनी पहली पारी में 417 रन बनाए।

पहली पारी में 134 रनों से पिछड़ रही इंग्लैंड की दूसरी पारी की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। रेग्युलर ओपनर हसीब हमीद पहली पारी में उमेश यादव की गेंद पर चोटिल हो गए थे, तो वह पारी की शुरुआत करने भी नहीं आए।

इंग्लैंड को पहला झटका उनके कप्तान एलेस्टर कुक के रूप में लगा। कुक 12 बनाकर अश्विन की गेंद पर बोल्ड हो गए। कुक टर्न के लिए खेले लेकिन गेंद सीधा निकल गई और सीधा विकेटों से जा टकराई। भारत के लिए इससे अच्छी शुरुआत नहीं हो सकती थी।

इंग्लैंड अभी इस झटके से उबरा भी नहीं था कि तीन रन बाद 39 के स्कोर पर मोईन अली सिर्फ पांच रन बनाकर अश्विन के दूसरे शिकार बने। अली ने एक गैरजिम्मेदाराना शॉट खेला और मिड-ऑन पर खड़े जयंत यादव के हाथों कैच हुए।

इंग्लैंड के लिए दूसरी पारी में शुरुआत करने वाले जो रूट ने जॉनी बेयरस्टो के साथ मिलकर इंग्लैंड की पारी को संभालने की कोशिश की। दोनों ने मिलकर तीसरे विकेट के लिए 30 रन जोड़े। जब ऐसा लगने लगा कि दोनों बल्लेबाज अब सेट हो गए हैं तो जयंत यादव की एक सीधी गेंद पर वह विकेटों के सामने पाए गए। इंग्लैंड को 70 के स्कोर पर तीसरा झटका लगा। दिन के आखिरी ओवर में अश्विन ने बेन स्टोक्स को आउट कर इंग्लैंड की टीम को चौथा झटका दिया। अंपायर ने स्टोक्स को नॉट आउट करार दिया था लेकिन रीव्यू में स्टोक्स विकेटों के सामने पाए गए और तीसरे अंपायर धर्मसेना ने उन्हें आउट करार दिया।

इससे पहले, भारत ने इंग्लैंड पर पहली पारी के आधार पर 134 रन की बढ़त हासिल कर ली। मैच के तीसरे दिन लंच के बाद खेले गए दूसरे सत्र में टीम इंडिया 417 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन रवींद्र जाडेजा (90) ने बनाए। यह टेस्ट क्रिकेट में उनका सर्वाधिक स्कोर है। इस मैच में 7, 8 और 9 नंबर पर खेलने आए बल्लेबाजों ने फिफ्टी जड़ी, जो टेस्ट क्रिकेट में एक रेकॉर्ड है। वहीं बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड की ओर से सबसे ज्यादा 5 विकेट लिए।

417 रन की पारी में भारत की ओर से कोई भी बल्लेबाज शतक नहीं लगा पाया, जबकि इस पारी में भारत के 5 बैट्समैन ने हाफ सेंचुरी लगाई। एक समय लग रहा था कि 90 रन पर खेल रहे जाडेजा मोहाली के अपने इस लकी मैदान पर शतक जड़ कर रहेंगे, लेकिन आदिल रशीद को छक्का मारने के चक्कर में वह बाउंड्री लाइन के भीतर वोक्स को कैच थमा बैठे। जाडेजा के बाद रविचंद्रन अश्विन ने 72 रन का योगदान दिया। इन दोनों के अलावा कोहली, पुजारा और जयंत यादव ने भी हाफ सेंचुरी लगाई।

सोमवार को खेल के पहले सेशन की शुरुआत में भारत ने अपनी पहली पारी को 271/6 से आगे खेलना शुरू किया था। दिन की पहली गेंद पर अश्विन ने चौका जड़ कर भारत के इरादे साफ कर दिए। अश्विन और उनके साथी खिलाड़ी रवींद्र जाडेजा पर इंग्लिश बोलर्स कोई खास प्रभाव नहीं डाल पाए और दोनों ने स्कोर को 300 के पार पहुंया दिया। इस बीच 301 के स्कोर पर जोस बटलर ने रविचंद्रन अश्विन का शानदार कैच पकड़ा। तीसरे दिन के पहले सत्र में भारत ने रविचंद्रन अश्विन के रूप में अपना एकमात्र विकेट गंवाया। भारत की ओर से रवींद्र जाडेजा तीसरे दिन के हीरो रहे। 381 रन के कुल स्कोर पर जाडेजा 8वें विकेट के रूप में आउट हुए। इसके बाद अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे जयंत यादव ने उमेश यादव के साथ मिलकर 9वें विकेट के लिए 33 रन की साझेदारी की और इस दौरान अपना अर्द्धशतक भी पूरा किया। 417 के कुल स्कोर पर भारत की पहली पारी का अंत हो गया।

इंग्लैंड ने भारत की इस पारी में छह खिलाड़ियों को बोलिंग का मौका दिया, लेकिन उसके सिर्फ दो ही गेंदबाज मैच में विकेट लेने का कारनामा कर पाए। आदिल रशीद ने 4 और बेन स्टोक्स ने 5 विकेट अपने नाम किए। इसके अलावा कोई भी इंग्लिश बोलर भारतीय बैट्समैन पर प्रभाव नहीं छोड़ पाया। पहली पारी के आधार पर इंग्लैंड भारत से 134 रन पीछे है।

इससे पहले रविवार को मैच के दूसरे दिन भारत ने इंग्लैंड की पारी को 283 रन पर समेट दिया था। इसके बाद बैटिंग करने आई भारतीय टीम ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक 6 विकेट खोकर 271 रन बना लिए थे। मैच में एक समय भारत का मिडल ऑर्डल लड़खड़ा गया था, तब भारत की लड़खड़ाती पारी को अश्विन और जाडेजा ने संभाला था। मैच के तीसरे दिन भी दोनों ने बेहतरीन बैटिंग दिखाई। रविचंद्रन अश्विन ने रविवार को ही मैच में अपनी हाफ सेंचुरी पूरी कर ली थी, जबकि जाडेजा ने मैच के तीसरे दिन हाफ सेंचुरी लगाई।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *