अश्विन ने कपिल देव के रिकॉर्ड की बराबरी की, विजय-पुजारा की शतकीय साझेदारी

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे सीरीज के चौथे मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 146 रन बना लिए थे। इससे पहले इंग्लैंड की पारी 400 पर समाप्त हुई। भारत अब भी इंग्लैंड से 254 रन पीछे है। भारत के लिए मुरली विजय (70) और चेतेश्वर पुजारा (47) रन बनाकर नाबाद लौटे। दोनों नें दूसरे विकेट लिए 107 रन जोड़े। भारत ने लोकेश राहुल (24) के रूप में एकमात्र विकेट गंवाया। राहुल मोइन अली की गेंद पर बोल्ड हुए.

इससे पहले टीम इंडिया के स्टार स्पिन गेंदबाज आर अश्विन का सितारा इन दिनों बुलंदियों पर है वो जब भी मैदान पर उतरते हैं तो कोई न कोई रिकॉर्ड बना रहे होते हैं. अश्विन ने मुंबई टेस्ट मैच के दूसरे दिन पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव के एक खास रिकॉर्ड की बराबरी की. अश्विन ने 6 और जडेजा ने 4 विकेट झटक कर इंग्लैंड को 400 पर समेटने में बड़ा योगदान दिया। भारतीय पेसर्स की झोली खाली रही। इंग्लैंड के लिए कीटन जेनिंग्स ने अपने डेब्यू मैच में 112 रन बनाए। इसके अलावा जोस बटलर 76 रन और मोइन अली ने 50 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। कप्तान एलेस्टर कुक ने 46 रनों का योगदान दिया। भारतीय तेज गेंदबाज विकेटहीन रहे।

दूसरे दिन की शुरुआत में अश्विन ने बेन स्टोक्स को चलता किया। इसके बाद जडेजा ने क्रिस  वोक्स और आदिल राशिद का शिकार किया। जेक बॉल ने जोस बटलर के साथ नौंवे विकेट के लिए 54 रन जोड़े मगर अश्विन बॉल को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। अश्विन ने 43वें मैच में 23वीं बार 5 विकेट लेने का कमाल किया है। जडेजा ने बटलर को अपने करियर का 99वां शिकार बनाया। मुंबई टेस्ट के दूसरे दिन की सुबह बेन स्टोक्स को कप्तान कोहली के हाथों कैच आउट करवाने के साथ ही अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में अपना 23वां 5 विकेट हॉल हासिल कर लिया है. 23वीं बार एक पारी में 5 विकेट लेने के साथ ही उन्होंने कपिल देव के एक पारी में 23 बार विकेट लेने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है. आर अश्विन ने महज 43वें टेस्ट में ये मकाम हासिल कर लिया. जबकि कपिल देव ने 131 टेस्ट की 227 पारियों में ये कारनामा किया था. हरभजन ने 103 टेस्ट मुकाबलों में 25 बार ये कारनामा किया है. जबकि कुंबले ने 132 टेस्ट में 35 बार एक पारी में 5 विकेट अपने नाम किए हैं. मुंबई टेस्ट की पहली पारी में अश्विन अबतक छह विकेट ले चुके हैं. टेस्‍ट में उनके नाम  241 विकेट हैं. वनडे मुकाबलों में उनके नाम पर 142 विकेट और टी-20 में 52 विकेट उनके खाते में हैं.

भारत तीसरे दिन चाहेगा कि वो पूरे दिन बल्लेबाजी करे और करीब 100-150 रन की बढ़त जरूर बनाए। भारत चौथी पारी में कम से कम लक्ष्य का पीछा करना चाहेगा क्योंकि वानखेडे़ की पिच में काफी टर्न है। चौथी पारी में वानखेड़े पर औसतन स्कोर 145 रन है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *